ताजा खबरें >- :
उत्तराखंड के मनोनीत मुख्यमंत्री धामी 23 मार्च को दोपहर 2:30 बजे मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे

उत्तराखंड के मनोनीत मुख्यमंत्री धामी 23 मार्च को दोपहर 2:30 बजे मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे

उत्तराखंड के मनोनीत मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी 23 मार्च को दोपहर 2:30 बजे मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। इस दौरान उनके साथ कैबिनेट मंत्रियों को भी शपथ दिलाई जाएगी। शपथ ग्रहण समारोह देहरादून के परेड ग्राउंड में आयोजित होगा।भाजपा प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान ने बताया कि इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित कई केंद्रीय नेता उपस्थित रहेंगे। गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी शपथ ग्रहण समारोह में आ सकते हैं। इसके लिए शासन स्तर से तैयारियां तेज हो गई हैं। माना जा रहा है कि यूपी के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ भी पहुंच सकते हैं।बुधवार को उत्‍तराखंड की नई सरकार के शपथ ग्रहण समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शामिल होंगे। इसके लिए मंगलवार को ट्रायल किया गया। जिसके लिए वायुसेना हेलीकॉप्टर परेड ग्राउंड पहुंचा।

बुधवार को परेड ग्राउंड में आयोजित शपथ ग्रहण समारोह को लेकर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है। मंच को जीरो जोन घोषित करते हुए एसपीजी के हवाले कर दिया गया है। किसी को भी मंच तक पहुंचने की इजाजत नहीं है। परेड ग्राउंड में ही अस्थायी हेलीपैड बनाया जा रहा है, जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हेलीकॉप्टर उतरेगा।सोमवार शाम प्रदेश भाजपा मुख्यालय में केंद्रीय पर्यवेक्षक रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह व सह पर्यवेक्षक विदेश राज्यमंत्री मीनाक्षी लेखी की उपस्थिति में हुई भाजपा विधायक दल की बैठक में धामी को फिर से नेता चुना गया।  जिसके बाद अब राज्‍य के 12वें मुख्‍यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे।

धामी के नेतृत्व में विधानसभा चुनाव में भाजपा दो-तिहाई बहुमत प्राप्त कर लगातार दूसरी बार सत्ता तक पहुंची, लेकिन वह स्वयं खटीमा सीट से चुनाव हार गए। उत्तराखंड में यह पहली बार हुआ है कि जब किसी मुख्यमंत्री को लगातार दूसरा अवसर दिया गया।सोमवार को भाजपा विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद राज्यपाल को इस बारे में अवगत कराया गया। साथ ही धामी के नेतृत्व में नई सरकार के मंत्रिमंडल के गठन का अनुरोध पत्र सौंपा गया।

पुष्कर सिंह धामी तीसरी व चौथी विधानसभा में ऊधमसिंह नगर की खटीमा सीट से विधायक रहे हैं, लेकिन इस बार इसी सीट से कांग्रेस के भुवन कापड़ी के हाथों उन्‍हें हार का सामना करना पड़ा। भाजपा ने पहले ही घोषणा कर दी थी कि सत्ता में आने की स्थिति में धामी को ही मुख्यमंत्री बनाया जाएगा। चुनाव आचार संहिता लागू होने से पहले धामी को मुख्यमंत्री के रूप में छह महीने का कार्यकाल मिला था। धामी उत्तराखंड में अब तक के सबसे कम उम्र के मुख्यमंत्री हैं। धामी पिछले वर्ष चार जुलाई को तीरथ सिंह रावत के स्थान पर उत्तराखंड के 11वें मुख्यमंत्री बने थे।

Related Posts