ताजा खबरें >- :
प्रदेश में चारधाम यात्रा निकट देख अब नागरिक उड्डयन विभाग भी इसकी तैयारियों में जुट गया

प्रदेश में चारधाम यात्रा निकट देख अब नागरिक उड्डयन विभाग भी इसकी तैयारियों में जुट गया

प्रदेश में चारधाम यात्रा निकट देख अब नागरिक उड्डयन विभाग भी इसकी तैयारियों में जुट गया है। इसके लिए जल्द ही हेली सेवाओं की आनलाइन बुकिंग खोलने की तैयारी है। यह बुकिंग उत्तराखंड नागरिक उड्डयन प्राधिकरण (यूकाडा) के साथ ही पर्यटन विभाग की वेबसाइट के जरिये कराने की तैयारी है।यात्रियों के लिए राहत यह रहेगी कि इस बार भी केदारनाथ धाम के लिए संचालित होने वाली हेली सेवाओं का किराया नहीं बढ़ेगा। इसका कारण प्रदेश सरकार द्वारा वर्ष 2020 में कंपनियों से तीन साल का अनुबंध करना है। इस कारण किराया इस साल भी यथावत रहेगा।

प्रदेश में हर साल चारधाम यात्रा शुरू होने के बाद केदारनाथ धाम के लिए हेली सेवाओं का भी संचालन किया जाता है। केदारनाथ धाम के लिए हेली सेवाएं केदारघाटी के फाटा, सिरसी और गुप्तकाशी में बनाए गए अस्थायी हेलीपैड से संचालित की जाती हैं। यात्रा शुरू करने से पहले कार्यालय महानिदेशक नागरिक उड्डयन (डीजीसीए) इनका सर्वे करता है। सर्वे के बाद ही हेली सेवा का संचालन शुरू होता है।

वर्ष 2020 में कोरोना के कारण चारधाम यात्रा प्रभावित रही। वर्ष 2021 में यूकाडा ने मई में फिर से हेली सेवाएं शुरू करने की तैयारी की। इस बीच कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर आ गई। इस कारण हेली सेवाएं अक्टूबर में शुरू की गईं। हालांकि, इस दौरान कोरोना संक्रमण के प्रसार पर रोक के लिए लगाए गए प्रतिबंधों के कारण सीमित संख्या में यात्रियों को हेली सेवा के जरिये जाने की अनुमति दी गई।इस वर्ष कोविड प्रतिबंध समाप्त हो चुके हैं। ऐसे में प्रदेश सरकार इस बार जोर शोर से चारधाम यात्रा की तैयारियों में जुटी हुई है। इसके लिए हेली सेवाओं को शुरू करने की तैयारी है। इस बार गुप्तकाशी में भी बुकिंग काउंटर व हेल्प डेस्क बनाने की तैयारी है।सचिव नागरिक उड्डयन दिलीप जावलकर का कहना है कि हेली सेवाओं को शुरू करने की तैयारी की जा रही है। अप्रैल से हेली सेवाओं की बुकिंग शुरू कर दी जाएगी। उन्होंने कहा कि इस वर्ष भी हेली सेवाओं का किराया नहीं बढ़ाया जाएगा।

फाटा से केदारनाथ- 2360 रुपये

सिरसी से केदारनाथ – 2340 रुपये

गुप्तकाशी से केदारनाथ – 3875 रुपये

पुलिस मुख्यालय में पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने अधीनस्थों संग बैठक कर चार धाम यात्रा को लेकर बनाई गई योजना पर चर्चा की। तय किया गया कि ऋषिकेश से यात्रा के विभिन्न पड़ावों के लिए विशेष व्यवस्था की जाएगी। कंट्रोल रूम से निगरानी से लेकर अतिरिक्त पुलिस कर्मियों की तैनाती भी की जाएगी।

बैठक में अपर पुलिस महानिदेशक अपराध एवं कानून व्यवस्था वी. मुरुगेशन, पुलिस उप महानिरीक्षक यातायात मुख्तार मोहसिन, पुलिस उप महानिरीक्षक गढ़वाल परिक्षेत्र करन सिंह नगन्याल, पुलिस उप महानिरीक्षक पी. रेणुका, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून जन्मेजय खंडूड़ी आदि उपस्थित रहे।

चार धाम यात्रा को लेकर पुलिस ने तैयारी शुरू कर दी है। यात्रा मार्ग पर यातायात सुचारू बनाए रखने के लिए कार्य योजना तैयार कर ली गई है। पुलिस बल बढ़ाने के साथ ही वैकल्पिक व्यवस्था को भी योजना में शामिल किया गया है। इस दौरान भीड़ बढऩे पर गरुड़ चट्टी से चीला तक वन-वे डायवर्जन किए जाने पर भी विचार किया जा सकता है।

Related Posts