ताजा खबरें >- :
देहरादून जिले के सेलाकुई थाना अंतर्गत भाऊवाला सुंदरवन में 45 झोपडिय़ां जलकर राख

देहरादून जिले के सेलाकुई थाना अंतर्गत भाऊवाला सुंदरवन में 45 झोपडिय़ां जलकर राख

देहरादून जिले के सेलाकुई थाना अंतर्गत भाऊवाला सुंदरवन में 45 झोपडिय़ां जलकर राख हो गईंं। शीशमबाड़ा कूड़ा निस्तारण प्लांट पर लगी अग्निशमन की गाडिय़ों ने मौके पर पहुंचकर आग को बुझाया, लेकिन तब तक अधिकांश सामान जलकर नष्ट हो गया।अग्निशमन कर्मियों को आग बुझाने में करीब दो घंटे की कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। एसडीएम विनोद कुमार, तहसीलदार सोहन लाल रांगड़ ने मौके पर पहुंचकर स्थिति देखी। प्रशासन ने पीडि़त परिवारों को भाऊवाला के एक मंदिर परिसर में शिफ्ट कराया है, साथ ही उनके खाने-पीने की व्यवस्था कराई है।

भाऊवाला सुंदर वन में झुग्गी बस्ती है, जिसमें बिहार के श्रमिक परिवार के साथ रहते हैं। मंगलवार को अधिकांश श्रमिक काम पर गए हुए थे। दो तीन परिवार ही झुग्गी बस्ती में थे, जो खाना बना रहे थे। इस वक्‍त चूल्हे से उठी चिंगारी के कारण एक झोपड़ी ने आग पकड़ ली। मौके पर मौजूद परिवारों ने अपने यहां से सामान बाहर निकाल लिया, लेकिन तब तक आग विकराल रूप ले चुकी थी।आग ने एक-एक कर करीब 45 झोपडिय़ों को अपनी चपेट में ले लिया। सूचना मिलने पर सेलाकुई थानाध्यक्ष मनमोहन सिंह नेगी और अग्निशमन अधिकारी रमेश चंद टीम के साथ पहुंचे और कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। इस बीच 45 झोपडिय़ां सामान सहित राख के ढेर में बदल चुकी थीं।

मौजूदा स्थिति यह है कि इन झोपडिय़ों में रह रहे परिवार खुले आसमान के नीचे आ गए। अनाज, बिस्तर, कपड़े आदि सब कुछ जलने के कारण श्रमिक परिवारों के सामने भरण पोषण और रात बिताने की समस्या खड़ी हो गई है। आग से अवधेश, देवेश, सूरज, ललकू, ज्ञानेश्वर, शंकर, अशोक, अनिरुद्ध, कुलदीप, प्रमोद आदि बुरी तरह प्रभावित हुए।घटना के बाद कई परिवार राख में से सामान तलाशने की कोशिश में लगे रहे, जो कम जला था। बच्चे खिलौने, किताबें आदि जलने से मायूस नजर आए। विधायक सहदेव सिंह पुंडीर ने मौके पर जाकर पीडि़तों से बात की और मदद का आश्वासन दिया।उप जिलाधिकारी विनोद कुमार ने पीडि़त परिवारों को मंदिर में शिफ्ट कराकर खाने की व्यवस्था कराई है। अग्निशमन अधिकारी रमेश चंद के अनुसार आग खाना बनाते समय उठी चिंगारी के कारण लगने की बात सामने आयी है।

 

Related Posts