ताजा खबरें >- :
उत्तराखंड के मुख्यमंत्री धामी के विभिन्न जिलों के भ्रमण के दौरान अब उनका काफिला छोटा रहेगा

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री धामी के विभिन्न जिलों के भ्रमण के दौरान अब उनका काफिला छोटा रहेगा

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के विभिन्न जिलों के भ्रमण के दौरान अब उनका काफिला छोटा रहेगा। इसमें केवल सुरक्षा से संबंधित और आवश्यक अधिकारियों के वाहन ही शामिल रहेंगे। मुख्यमंत्री के निर्देशों के क्रम में खुफिया विभाग ने सभी जिलों के पुलिस कप्तानों को सर्कुलर जारी कर इस व्यवस्था का सख्ती से अनुपालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए हैं।मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी मंगलवार को ऊधमसिंह नगर जिले के दौरे पर थे। इस दौरान उनके काफिले में एक दर्जन से अधिक वाहन शामिल हो गए। इससे यातायात व्यवस्था प्रभावित हुई। मुख्यमंत्री ने इस घटना के बाद अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिन अधिकारियों की आवश्यकता न हो, उन अधिकारियों को कार्यक्रमों में अनावश्यक रूप से न बुलाया जाए। अधिकारी अपने क्षेत्रों में रहकर ही जनहित और विकास कार्यों पर ध्यान दें। मुख्यमंत्री के काफिले में अधिकतम चार से पांच वाहन शामिल होते हैं।इनमें उनकी सुरक्षा में लगे कार्मिकों के साथ ही मुख्यमंत्री कार्यालय के अधिकारियों के वाहन होते हैं। जिला भ्रमण कार्यक्रमों के दौरान मुख्यमंत्री के काफिले में स्थानीय जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों के वाहन भी शामिल हो जाते हैं। इससे यातायात व्यवस्था प्रभावित होती है। साथ ही आमजन को परेशानी का सामना करना पड़ता है। इस बात की गंभीरता को देखते हुए मुख्यमंत्री ने जिला भ्रमण कार्यक्रम के दौरान काफिला छोटा ही रखने का निर्णय लिया है। उनके निर्देशों के क्रम में अब सभी जिलों यह व्यवस्था सुनिश्चित भी कर दी गई है। 

उत्तराखंड क्रांति दल के विधि प्रकोष्ठ के अध्यक्ष व युवा अधिवक्ता अमित वर्मा का आकस्मिक निधन हो गया है। उन्होंने मंगलवार को आरोग्यधाम अस्पताल में अंतिम सांस ली। फेफड़ों में संक्रमण होने के कारण पिछले कई दिन से अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था। वह सौम्य व सरल स्वभाव के थे। अधिवक्ता के तौर पर कानून पर उनकी मजबूत पकड़ तो थी ही, साथ ही प्रखर वक्ता भी थे। उन्होंने बार काउंसिल उत्तराखंड का चुनाव भी लड़ा था।उनके आकस्मिक निधन पर उक्रांद कार्यकर्त्ताओं ने दुख जताया है। दल के केंद्रीय उपाध्यक्ष किशन मेहता, जय प्रकाश, बहादुर रावत, विजय बौड़ाई, दीपक रावत, किरण रावत, आशुतोष भंडारी, राजेंद्र सिंह आदि ने दो मिनट का मौन रखकर उनकी आत्म शांति के लिए प्रार्थना की। उन्होंने कहा कि उक्रांद का हर कार्यकत्र्ता दुख की इस घड़ी में शोकाकुल परिवार के साथ खड़ा है।

Related Posts