ताजा खबरें >- :
प्रदेश में चारधाम यात्रा मार्ग पर स्वास्थ्य केंद्रों में तैनात किए जाने वाले चिकित्सकों को दिया जाएगा विशेष प्रशिक्षण

प्रदेश में चारधाम यात्रा मार्ग पर स्वास्थ्य केंद्रों में तैनात किए जाने वाले चिकित्सकों को दिया जाएगा विशेष प्रशिक्षण

प्रदेश में चारधाम यात्रा मार्ग पर स्वास्थ्य केंद्रों में तैनात किए जाने वाले चिकित्सकों को विशेष प्रशिक्षण दिया जाएगा। इन चिकित्सकों को हृदयाघात और हाई एल्टीट्यूड सिकनेस (अधिक ऊंचाई पर जी मचलाना) के उपचार को प्रशिक्षित किया जाएगा। यात्रा के दौरान इन्हीं दोनों की शिकायत यात्रियों को सबसे अधिक होती है।प्रदेश में चारधाम यात्रा के दौरान सरकार द्वारा यात्रा मार्गों पर अस्थायी स्वास्थ्य केंद्र खोलने के साथ ही इन मार्गों पर पडऩे वाले चिकित्सालयों में अतिरिक्त चिकित्सकों की तैनाती की जाती है। उद्देश्य यह कि चारधाम यात्रा पर आने वाले यात्रियों को उचित उपचार दिया जा सके। इस वर्ष भी यह व्यवस्था बनाई जा रही है। यात्रा के दौरान यात्रियों को हृदयाघात की सबसे अधिक शिकायतें आती हैं।

चार धामों के ऊंचाई पर होने के कारण यहां आक्सीजन की कमी होती है। विशेष रूप से बदरीनाथ व केदारनाथ मार्ग पर बुजुर्ग यात्री इस समस्या से दो-चार होते हैं। इस दौरान कई यात्रियों की मृत्यु भी हो जाती है। इसे देखते हुए सरकार का फोकस यात्रा मार्ग पर आक्सीजन की व्यवस्था सुचारू करने के साथ ही चिकित्सकों को प्रशिक्षित कर इन मार्गों पर तैनात करने पर है।इसके लिए यात्रा ड्यूटी पर लगने वाले चिकित्सकों को 15-15 दिन का प्रशिक्षण दिया जाएगा। यह प्रशिक्षण अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) और निजी अस्पतालों में दिया जाएगा। सचिव स्वास्थ्य डा. पंकज कुमार पांडेय ने कहा कि सभी चिकित्सकों की ड्यूटी रोटेशन में लगाई जाएगी।

Related Posts