ताजा खबरें >- :

द्वितीय केदार भगवान मद्महेश्वर के कपाट आगामी शीतकाल के छह महीनो के लिए बंद

पंच केदारों में शामिल द्वितीय केदार भगवान मद्महेश्वर के कपाट आगामी शीतकाल के छह महीनो के लिए बंद हो गए हैं। सोमवार सुबह आठ बजे वृश्चिक लग्न में कपाट बंद किए गए। मुख्य पुजारी शिवलिंग ने पूजा-अर्चना के बाद भगवान के स्वयंभू शिवलिंग को समाधि रूप देकर कपाट बंद किए।तय कार्यक्रम के तहत सुबह तड़के
Complete Reading

केदारनाथ के दर्शन के लिए पहुंचे PM Modi, कई नई योजनाओं के साथ पहाड़ पलायन को लेकर भी कही ये बात, जानें

केदारनाथ: शुक्रबार को गोवर्धन पूजा के अवसर पर शुक्रवार को बाबा केदार पहुंचकर पीएम मोदी ने बाबा का आशिर्बाद लिया। इसी दौरान उन्होंने लग`भग 400 करोड़ की योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। इसमें आदि गुरू श्री शंकराचार्य जी के पुनर्निर्मित समाधि स्थल और नई प्रतिमा का अनावरण के साथ तीर्थ पुरोहितों के आवास, सरस्वती
Complete Reading

धाम के लिए रवाना हुई भगवान मदमहेश्वर की डोली

पंचकेदार में प्रसिद्ध द्वितीय केदार भगवान श्री मदमहेश्वर जी की चलविग्रह डोली आज प्रात: शीतकालीन गद्दी स्थल श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ से अपने धाम श्री मदमहेश्वर के लिए प्रस्थान किया। आज प्रथम पड़ाव श्री राकेश्वरी मंदिर रांसी पहु़ंचेगी। 23 मई को गोंडार गांव  व 24 मई को प्रात: मदमहेश्ववर पहुंचेगी उसी दिन  श्री मदमहेश्वर  के कपाट
Complete Reading

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने भागीरथीपुरम स्थित आवास पर बच्चों के साथ मनाया फूलदेई पर्व

मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत ने भागीरथीपुरम स्थित अपने आवास पर बच्चों के साथ प्रकृति का आभार प्रकट करने वाला पर्व फूलदेई मनाया। उन्होंने कहा कि यह पर्व प्रकृति के सरंक्षण एवं हमारी संस्कृति का द्योतक है। प्रकृति के इस लोकपर्व एवं प्राचीन संस्कृति को संजोऐ रखने के लिए सबको प्रयास करने होंगे। मुख्यमंत्री ने
Complete Reading

फूलदेई छम्मा देई दैणी द्वार भर भकार….

चैत्र माह के प्रथम दिन यानि संग्राद को उत्तराखण्ड के पर्वतीय अंचल में बालपर्व फूलदेई का त्यौहार शुरु हो गया  है । जिसकी तैयारियां बच्चे कई दिन पहले से कर लेते है । उनके लिए रिंगाल की कैंडी (टोकरी) की लाल मिट्टी से पुताई कर सुन्दर वसुधारे डाले जाते हैं। जिसमें बच्चे फूलदेई के दिन
Complete Reading

“घर की पहचान बेटी के नाम” मुख्यमंत्री  त्रिवेंद्र की अभिनव पहल ।

“घर की पहचान बेटी के नाम” मुख्यमंत्री  त्रिवेंद्र सिंह रावत द्वारा आज नैनीताल मेें एक ऐतिहासिक अभिनव पहल की शुरुआत हुई ।प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी  के बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान को उत्तराखंड में एक कदम और आगे बढ़ाया जा रहा है। नए समाज के सृजन और बेटी के सम्मान में इजाफे के मकसद से मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र
Complete Reading

पारंपरिक ऐपण कला को बढ़ावा दे रहे त्रिवेंद्र।

हाल ही में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र के दिल्ली दौरे में मुख्यमंत्री ने सभी केंद्रीय मंत्रियों से मुलाकात के दौरान उन्हें उत्तराखंड की पारंपरिक ऐपण कला भेंट स्वरूप दी। त्रिवेंद्र की यह छवि उनके पहाड़ी प्रेम और पहाड़ की संस्कृति के प्रति उनके लगाव को दर्शाती है। उत्तराखंड में विकास के साथ साथ मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र अपनी संस्कृति
Complete Reading

उत्तराखंड में पिरुल, भीमल ,रिंगाल और बांस से होगी आर्थिकी मजबूत ।

उत्तराखंड में जल्द ही बांस ,भीमल, पिरूल , रिंगाल से बने हस्तशिल्प उत्पादों का कारोबार चमकेगा जिससे आर्थिकी भी मजबूत होगी। सरकार बड़े शहर में हथकरघा व हस्तशिल्प उत्पादों के इम्पोरियम खोलेगी। सोमवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की अध्यक्षता में सचिवालय में हुई बैठक में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने हथकरघा एवं हस्तशिल्प विकास के लिए
Complete Reading

हरिद्वार में कल बसंत पंचमी का स्नान, भारी वाहन का प्रवेश आज से बंद

मंगलवार को बसंत पंचमी स्नान को लेकर आज से हरिद्वार में भारी वाहनों की एंट्री बंद कर दी जाएगी। आवश्यक वस्तु लेकर आने वाले वाहनों को ही जाने दिया जाएगा। पुलिस और प्रशासन ने स्नान को लेकर सारी तैयारियां पूरी कर ली है। जबकि आज सोमवार को जरूरत पड़ने पर दिल्ली से आने वाला ट्रैफिक
Complete Reading

उत्तराखंड की ओर से प्रदर्शित हुई “केदारखंड झांकी” को प्राप्त हुआ तृतीय स्थान |

72 में गणतंत्र दिवस के अवसर पर राज्य पथ पर निकली झांकियों में उत्तराखंड की ओर से प्रदर्शित हुई “केदारखंड झांकी” को तृतीय स्थान प्राप्त हुआ है |यह संपूर्ण उत्तराखंड के लिए गर्व का विषय है। गणतंत्र दिवस के अवसर पर राजपथ में आयोजित होने वाली परेड 2021 के लिए उत्तराखण्ड राज्य की झांकी ने
Complete Reading