ताजा खबरें >- :
विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर उत्‍तराखंड भर में पांच लाख से अधिक लोगों ने तंबाकू मुक्त उत्तराखंड की शपथ ली

विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर उत्‍तराखंड भर में पांच लाख से अधिक लोगों ने तंबाकू मुक्त उत्तराखंड की शपथ ली

विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर आज मंगलवार को उत्‍तराखंड भर में पांच लाख से अधिक लोगों ने तंबाकू मुक्त उत्तराखंड की शपथ ली। मुख्‍य कार्यक्रम देहरादून के दून मेडिकल कालेज में आयोजित किया गया। इस दौरान मुख्य अतिथि अंडमान निकोबार के उप राज्यपाल एडमिरल डीके जोशी ने उपस्थित छात्रों, फैकल्टी व अन्य लोग को तंबाकू से दूर रहने की शपथ दिलाई।स्वास्थ्य मंत्री डा धन सिंह रावत, चिकित्सा शिक्षा विश्वविद्यालय के कुलपति डा हेमचंद्र पांडेय, स्वास्थ्य महानिदेशक डा शैलजा भट्ट व महानिदेशक चिकित्सा शिक्षा डा आशीष श्रीवास्तव ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

कार्यक्रम में स्वास्थ्य मंत्री डा धन सिंह रावत ने कहा कि हर स्कूल कालेज का कैंपस तंबाकू मुक्त होगा। वहीं हर ब्लाक में दो गांव तंबाकू मुक्त होंगे। 2025 तक 15 फीसद लोग को तंबाकू छुड़वाने का संकल्प है।मुख्य अतिथि एडमिरल डीके जोशी ने कहा कि कार्यक्रम की थीम ‘आओ गांव चलें, उत्तराखंड को तंबाकू मुक्त करें’ में अंतिम व्यक्ति तक पहुंचने का संकल्प है। उत्तराखंड में फेफड़ों से संबंधी दिक्कत ज्यादा है। इसका एक बड़ा कारण धूमपान भी है। गांव–गांव तक पहुंचने के संकल्प के साथ शुरू हुए इस अभियान की सफलता की कामना करता हूं।

महानिदेशक चिकित्सा शिक्षा शिक्षा डा आशीष श्रीवास्तव ने अतिथियों का स्वागत किया। कहा कि तंबाकू से होने वाली बीमारियों का जोखिम बढ़ा है।अच्छी बात ये है कि भावी पीढ़ी के रूप में आंकड़े उम्मीद जगा रहे हैं। संकल्प लें कि न खुद तंबाकू का सेवन करेंगे और न अपने परिचित को करने देंगे। टीबी एंड चेस्ट के विभागाध्यक्ष डा अनुराग अग्रवाल ने तंबाकू से होने वाले नुकसान की जानकारी दी।कहा कि तंबाकू जन स्वास्थ्य के साथ ही पर्यावरण को भी अत्यधिक नुकसान पहुंचा रहा है।

 

Related Posts