ताजा खबरें >- :
चीन के ग्लास ब्रिज की तर्ज पर टिहरी झील के ऊपर भी पारदर्शी ग्लास ब्रिज का निर्माण होगा

चीन के ग्लास ब्रिज की तर्ज पर टिहरी झील के ऊपर भी पारदर्शी ग्लास ब्रिज का निर्माण होगा

चीन के हुनान प्रांत में टियानमेन माउंटेन नेशनल पार्क में दो चोटियों से जोड़ने वाले 1410 फीट लंबे और छह मीटर चौड़े ग्लास ब्रिज की तर्ज पर टिहरी झील के ऊपर भी पारदर्शी ग्लास ब्रिज का निर्माण होगा। इसके लिए डीपीआर बननी शुरू हो गई है। इसके अलावा झील के बीच टापू में भगवान शिव की मूर्ति व हाट बजार और टिपरी रोपवे का आधुनिकीकरण भी केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी टिहरी झील समग्र विकास योजना के तहत किया जाएगा।

टिहरी झील में 800 करोड़ की लागत से पर्यटन विकास के कार्य होने हैं। इसके लिए बीते माह कार्यदायी संस्था वैपकोस की टीम ने झील का निरीक्षण किया था और अब डीपीआर बनानी शुरू कर दी है। योजना के तहत प्रतापनगर वासियों की सुविधा के लिए टिहरी झील में टिपरी रोपवे का विकास भी किया जाएगा। फिलहाल इस रोपवे में सामान्य डिब्बा लगाया गया है। लेकिन, योजना के तहत डिब्बे में काफी हाउस और बेहतर फर्नीचर रखा जाएगा।जिला पर्यटन अधिकारी सोबत सिंह राणा ने बताया कि पर्यटक टिपरी से मदन नेगी तक रोपवे से जाएंगे और मदन नेगी से धारकोट के बीच टिहरी झील के ऊपर लगभग 800 मीटर लंबे ग्लास ब्रिज का निर्माण होगा। धारकोट पहुंचने के बाद छह किमी के पैदल ट्रैक से सीधे टिहरी रियासत की राजधानी रहे प्रतापनगर महल तक पहुंचा जा सकेगा।इवा आशीष श्रीवास्तव (जिलाधिकारी, टिहरी गढ़वाल) का कहना है कि टिहरी झील के ऊपर ग्लास ब्रिज निर्माण का प्रस्ताव है। कार्यदायी संस्था प्रोजेक्ट की डीपीआर तैयार कर रही है। इसमें दो माह का वक्त लगेगा और फिर आगे की प्रक्रिया शुरू होगी।

Related Posts