ताजा खबरें >- :
उत्तराखंड में 2022 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और भाजपा के बीच बूथों पर होने जा रहा कड़ा संघर्ष

उत्तराखंड में 2022 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और भाजपा के बीच बूथों पर होने जा रहा कड़ा संघर्ष

उत्तराखंड में 2022 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और भाजपा के बीच बूथों पर कड़ा संघर्ष होने जा रहा है। कांग्रेस ने भाजपा के पन्ना प्रमुखों के जवाब में बूथ सारथी, बूथ योद्धा, बूथ मित्र को उतारने का फैसला किया है। इन पर मतदाताओं को कांग्रेस के पक्ष में बूथ तक लाने की जिम्मेदारी होगी।प्रदेश कांग्रेस के ऋषिकेश में तीन दिनी मंथन शिविर में सत्तारूढ़ भाजपा को आगामी चुनाव में शिकस्त देने के लिए बहु स्तरीय रणनीति अमल में लाने पर सहमति बन चुकी है। कांग्रेस प्रदेश मुख्यालय से लेकर जिलों और ब्लाक स्तर पर भाजपा सरकार के खिलाफ व्यापक संघर्ष छेडऩे जा रही है। इसके लिए पार्टी के दिग्गज नेता प्रदेश भ्रमण पर निकलेंगे। दौरे के लिए उनके कार्यक्रमों को जल्द अंतिम रूप दिया जाएगा।

2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा को मिला विशाल बहुमत कांग्रेस के लिए बड़ी चुनौती है। पिछले चुनाव में भाजपा ने बूथों पर खुद को मजबूत करने के लिए पन्ना प्रमुखों को दारोमदार दिया था। कांग्रेस अब भाजपा की इस रणनीति की काट करने की तैयारी में है। पार्टी ने तय किया है कि पन्ना प्रमुखों के जवाब में बूथ स्तर पर कार्यकत्र्ताओं की फौज उतारी जाएगी। विचार मंथन शिविर में इस बारे में निर्णय लिया जा चुका है। साथ में यह भी तय किया गया कि इन्हें बूथ सारथी, बूथ कप्तान, बूथ योद्धा, बूथ सेना और बूथ मित्र जैसे नामों से संबोधित किया जाएगा।बूथ स्तर पर कार्यकत्र्ताओं की ये सेना ब्लाक से लेकर जिलों में पार्टी के बड़े प्रदर्शनों में भी बड़ी भूमिका निभाएगी। पार्टी दिग्गज इन कार्यकत्र्ताओं में जोश भरने में जुटे हुए हैं। मतदान के दौरान इन पर मतदाताओं को बूथों तक लाने का दारोमदार होगा ही, साथ में भाजपा सरकार की खामियों को जनता के बीच पहुंचाने में भी पार्टी इनकी मदद लेगी।

Related Posts