ताजा खबरें >- :
एसटीएफ की टीम ने कैलाशपुर गांव के निकट स्थित दवा फैक्ट्री से बड़े पैमाने पर नकली दवाई बरामद की

एसटीएफ की टीम ने कैलाशपुर गांव के निकट स्थित दवा फैक्ट्री से बड़े पैमाने पर नकली दवाई बरामद की

स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) देहरादून की टीम ने हरिद्वार जिले के भगवानपुर स्थित रायपुर व लक्सर के अलावा उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले के कैलाशपुर में छापा मारकर नकली दवा बनाने के रैकेट का भंडाफोड़ किया है। रविवार को देर रात तक एसटीएफ की कार्रवाई रविवार देर रात तक भी जारी रही। एसटीएफ की टीम ने रविवार की देर रात कैलाशपुर गांव के निकट स्थित दवा फैक्ट्री से बड़े पैमाने पर नकली दवाई बरामद की है। यहां पर करीब तीन मशीनें लगी हुई थीं। सहारनपुर के ड्रग इंस्पेक्टर को भी मौके पर बुलाया गया। इस फैक्ट्री को नितिन निवासी मोहनपुरा संचालित कर रहा था। एसटीएफ और स्थानीय पुलिस की कार्रवाई सोमवार सुबह करीब पांच बजे तक चली। वहीं ड्रग इंस्पेक्टर मानवेंद्र राणा पूरे मामले की जांच कर रहे हैं।

बरामद हुई नकली दवाइयों का आकलन किया जा रहा है। भगवानपुर के रायपुर में पकड़ी गई इनोवा कंपनी में नकली दवा के बनाने के मामले में विशाल और पंकज की भी तलाश जारी है। इस मामले में पुलिस की तरफ से नितिन निवासी मोहनपुरा, रोहतास निवासी रोहाना जिला मुजफ्फरनगर, संजीत निवासी सिकरोड़ा थाना भगवानपुर संचित निवासी पुरवा वाली गणेशपुर रुड़की समेत पांच पर मुकदमा दर्ज किया गया है।स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) देहरादून की टीम ने रविवार को हरिद्वार जिले के भगवानपुर स्थित रायपुर व लक्सर के अलावा उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले के कैलाशपुर में छापा मारकर नकली दवा बनाने के रैकेट का भंडाफोड़ किया है। रायपुर में स्थित जिस कंपनी पर छापा मारा गया है, यह एक साल पहले नकली दवा मामले में सील हुई थी।

एसटीएफ ने मौके से ब्रांडेड कंपनी के नाम से तैयार की गई एंटीबायोटिक दवा का जखीरा, दवा के रेपर और कच्चा माल बरामद किया है। कार्रवाई के दौरान पांच लोग गिरफ्तार किए गए हैं। टीम ने नकली दवाइयों के लिए बाक्स तैयार करने वाली कंपनी का गोदाम भी पकड़ा है। एसटीएफ को सूचना मिली थी कि एक गिरोह उत्तराखंड व उत्तर प्रदेश के अलग-अलग स्थानों पर नकली दवा तैयार कर रहा है। जिस पर एसटीएफ के इंस्पेक्टर अब्दुल कलाम की टीम ने रविवार सुबह साढ़े पांच बजे भगवानपुर के रायपुर औद्योगिक क्षेत्र स्थित बंद पड़ी इनोवा ड्रग कंपनी में छापा मारा।

यहां बड़े पैमाने पर नकली एंटीबायोटिक टेबलेट मिली। यह टेबलेट पैक व लूज में थी। इसके अलावा कई क्विंटल कच्चा माल बरामद हुआ। नकली दवा हिमाचल की एक ब्रांडेड कंपनी के नाम से तैयार की जा रही थी। टीम ने लक्सर के पीपली गांव स्थित पानी के प्लांट की आड़ में चल रही नकली दवा की फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया। यहां पर एक बोरे में आठ से दस किलो कैप्सूल और टैबलेट मिले हैं। इसके अलावा दवा बनाने वाली एक मशीन में रेपर लगे हुए मिले। यह रेपर इंफेक्शन में इस्तेमाल होने वाली एंटीबायोटिक दवा के थे।यहां पर तैनात चौकीदार ने टीम को बताया कि यह फैक्ट्री पंकज, विशाल और रवि कुमार निवासी रुड़की की है। इसके बाद एसटीएफ की एक अन्य टीम ने सहारनपुर के कैलाशपुर गांव के पास छापा मारकर नकली दवा बरामद की। यहां से भी नकली दवा मिली हैं।

 

Related Posts