ताजा खबरें >- :
हेली कंपनियों और ट्रैवल एजेंटों की मनमानी हुई खत्म, उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद् में करना होगा पंजीकरण

हेली कंपनियों और ट्रैवल एजेंटों की मनमानी हुई खत्म, उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद् में करना होगा पंजीकरण

प्रदेश सरकार ने केदारनाथ धाम के हेली सेवाओं के टिकटों की अवैध कारोबारी, रोकने के लिए ऑनलाइन बुकिंग सिस्टम अपने पास ले लिया है। इससे हेली कंपनियों और ट्रैवल एजेंटों की मनमानी खत्म हो गई है।

उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद् में ऑनलाइन टिकट बुकिंग कराने के लिए एजेंटों को पहले पंजीकरण करना होगा। साथ ही सरकार ने प्रति यात्री के हिसाब से 100 रुपये सेवा शुल्क भी निर्धारित किया है।

बाबा केदार के दर्शन के लिए जाने वाले यात्री स्वयं भी heliservices.uk.gov.in पर हेली सेवा के ऑनलाइन टिकट बुक करा सकते हैं। नागरिक उड्डयन विभाग ने सात अगस्त से ऑनलाइन बुकिंग शुरू कर दी है।

दो दिनों में 1013 यात्रियों की गुप्तकाशी, फाटा और सिरसी हेलीपैड से बुकिंग की गई। दूसरे चरण में केदारनाथ धाम की हेली सेवाएं 10 सितंबर से संचालित की जाएगी। जिन यात्रियों की टिकट बुकिंग की है, वे यात्रा आरंभ होने के 24 घंटे पहले तक टिकट रिफंड कर सकते हैं।

सचिव नागरिक उड्डयन दिलीप जावलकर ने बताया कि 70 प्रतिशत टिकटों की बुकिंग ऑनलाइन की जाएगी। वहीं 30 प्रतिशत टिकटों की बुकिंग काउंटर से मौके पर होगी। इसके लिए गुप्तकाशी में एक और फाटा में दो टिकट काउंटर स्थापित किए जाएंगे।

 

सिरसी में इंटरनेट सेवा सुचारु न होने से सिरसी हेलीपैड की ऑन द स्पॉट बुकिंग फाटा में स्थापित दूसरे काउंटर से की जाएगी। नई व्यवस्था लागू होने से यात्रियों को बुकिंग के समान अवसर प्राप्त हो सकेंगे।

Related Posts