ताजा खबरें >- :
गोपेश्वर : भवन निर्माण व मरम्मत पर पुरातत्व विभाग ने ग्रामीणों को नोटिस भेजा

गोपेश्वर : भवन निर्माण व मरम्मत पर पुरातत्व विभाग ने ग्रामीणों को नोटिस भेजा

गोपीनाथ मंदिर के आस पास भवन निर्माण व मरम्मत पर पुरातत्व विभाग ने ग्रामीणों को नोटिस भेजा हैं। जिससे लोगों में आक्रोश है। गोपेश्वर गांव में पुरातत्व महत्व का शिव मंदिर गोपीनाथ मंदिर है। प्राचीन गोपीनाथ मंदिर का संरक्षण पुरातत्व विभाग के पास है। विभाग की ओर से मंदिर से दो सौ मीटर के दायरे में नवनिर्माण कार्यों पर रोक लगाई हुई है। अब यहां ग्रामीण अपने क्षतिग्रस्त भवनों की मरम्मत भी नहीं कर पा रहे हैं। पुरातत्व विभाग की ओर से प्राचीन गोपीनाथ मंदिर के दो सौ मीटर के दायरे में ग्रामीणों के भवन मरम्मत, निर्माण कार्य पर 120 लोगों को नोटिस थमाए गए हैं।

जनप्रतिनिधियों का कहना है कि जिन ग्रामीणों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास आवंटित किए गए हैं, उन्हें भी मकान बनाने की अनुमति नहीं दी जा रही है जो कि न्यायोचित नहीं है। इसे लेकर जिलाधिकारी से मामले की शिकायत करने का भी उन्होंने निर्णय लिया है। गोपेश्वर गांव निवासी विपिन भट्ट का कहना है कि मंदिर से उनका मकान सौ मीटर से अधिक दूरी पर है, बावजूद इसके उनकों पुरातत्व विभाग की ओर से नोटिस थमाया गया है।

हेमंत लाल, शंकरी देवी, रुकमा देवी, राजेंद्र लाल, विद्या, सरोज, कस्तूरा देवी, सुनील कुमार, रामेश्वरी, जेठी देवी, पदमा, कविता, नरेंद्र, उर्मिला और लक्ष्मी भट्ट को भी भवन निर्माण मरम्मत पर नोटिस आया है। इन लोगों का कहना है कि उन्हें प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास आवंटित हुए हैं, लेकिन भूमि उपलब्ध होने के बावजूद भी वे आवास निर्मित नहीं कर पा रहे हैं। नगर पालिका सभासद नवल भट्ट ने कहा कि यदि पुरातत्व विभाग की ओर से निर्माण कार्य में छूट नहीं दी गई तो आंदोलन शुरु कर दिया जाएगा। सहायक अधीक्षक पुरातत्व अभियंता रंजीत सिंह का कहना है कि ग्रामीणों को नियमानुसार ही नोटिस दिए गए हैं।

Related Posts