ताजा खबरें >- :
प्रधानमंत्री मोदी के उत्तराखंड दौरे का अलग-अलग संगठनों ने काले झंडे दिखा किया विरोध

प्रधानमंत्री मोदी के उत्तराखंड दौरे का अलग-अलग संगठनों ने काले झंडे दिखा किया विरोध

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के उत्तराखंड दौरे का अलग-अलग संगठनों ने विरोध किया। पीएम को काले झंडे दिखाने आए कांग्रेस कार्यकर्त्ताओं को पुलिस ने दून के एश्ले हाल चौक से गिरफ्तार कर लिया। वहीं, एनएसयूआइ के कार्यकर्त्ताओं की करनपुर में पुलिस से धक्का-मुक्की भी हुई, जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार किया गया। वहीं, भगवानपुर पुलिस ने मंडावर चेक पोस्ट से भीम आर्मी प्रदेश अध्यक्ष मुनीलाल शिंदे, पवन कुमार, अमित कपिल, को हिरासत लिया। वे पीएम मोदी को काले झंडे दिखाने के लिए दून आ रहे थे।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देहरादून आगमन के विरोध में कांग्रेसी कार्यकर्त्ताओं ने पार्टी नेता लालचंद शर्मा के नेतृत्व में एश्ले हाल चौक पर विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान कार्यकर्त्ताओं ने नरेंद्र मोदी गो बैक के नारे लगाए। आयोजन स्थल पर जाने की कोशिश करने के दौरान पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। कांग्रेस कार्यकर्त्ताओं की ओर से काले झंडे दिखाने की कोशिश की गई, जहां पुलिस की ओर से उन्हें गिरफ्तार किया। इस दौरान पुलिस कांग्रेस कार्यकर्त्ताओं के बीच धक्का-मुक्की भी हुई। पुलिस उन्हें निजी बस में बिठाकर ले गई।

एनएसयूआइ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उत्तराखंड दौरे का विरोध किया। प्रदेश अध्यक्ष मोहन भंडारी के नेतृत्व में कार्यकर्त्ता डीएवी महाविद्यालय में एकत्र हुए, जहां से उन्होंने रैली स्थल की ओर नारेबाजी मार्च निकाला। करनपुर चौक पर पहले से मौजूद पुलिस ने कार्यकर्त्ताओं को रोक दिया। यहां कार्यकर्त्ताओं और पुलिस के बीच जमकर धक्कामुक्की। इसपर पुलिस उन्हें गिरफ्तार कर गढ़ी कैंट थाने ले गई।प्रदर्शन में प्रदेश महासचिव आयुष गुप्ता, राष्ट्रीय संयोजक विकास नेगी, महानगर अध्यक्ष अभिषेक डोबरियाल, जिला उपाध्यक्ष उदित थपलियाल, दिव्या रावत, प्रकाश नेगी, राहुल जग्गी, सागर मनियारी, उज्ज्वल शर्मा, प्रियांशु गौड़, बुशरा, मीनाक्षी आदि मौजूद रहे।

भगवानपुर पुलिस ने मंडावर चेक पोस्ट से भीम आर्मी प्रदेश अध्यक्ष मुनीलाल शिंदे, पवन कुमार, अमित कपिल, को हिरासत में लिया है। भीम आर्मी के प्रदेश अध्यक्ष का प्रधानमंत्री कार्यक्रम में जाकर काले झंडे दिखाए जाने का कार्यक्रम था। मामले की जानकारी भगवानपुर पुलिस को लगी। पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए भीम आर्मी के कार्यकर्त्ताओं को हिरासत में लिया और उन्हें थाने ले आई। कुछ कार्यकर्त्ताओं को घर भेज दिया गया।हरिद्वार हरकी पैड़ी पर स्थित गुरुद्वारा श्री ज्ञान गोदड़ी को नगर निगम के कब्जे से मुक्त कराए जाने की मांग को लेकर प्रधानमंत्री को ज्ञापन देने जा रहे उत्तराखंड अकाली दल मान के कार्यकर्त्ताओं को प्रशासन में ऋषिकेश में ही रोक दिया, जिसके बाद कार्यकर्त्ताओं ने तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा। शनिवार को अकाली दल के उत्तराखंड प्रदेश अध्यक्ष जगजीत सिंह ने कार्यकर्ताओं के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ज्ञापन देने के लिए देहरादून जा रहे थे। इस बीच प्रशासन को इसकी सूचना मिल गयी। मौके पर पहुंचे नायाब तहसीलदार अयोध्या उनियाल व पुलिस प्रशासन ने चंद्रभागा पुल पर सभी को रोक लिया।

बातचीत के बाद जगजीत सिंह ने तहसीलदार को ज्ञापन देकर अपनी मांग प्रधानमंत्री तक पहुंचाने का आग्रह किया। नायब तहसीलदार ने आश्वासन दिया कि उनका यह ज्ञापन प्रधानमंत्री तक पहुंचा दिया जाएगा, जिसके बाद सभी सिख समुदाय के लोग वापस लौट गए। ज्ञापन देने वालों मे उत्तराखंड अकाली दल के प्रदेश अध्यक्ष जगजीत सिंह, परमजीत सिंह, रविंद्र सिंह, मनजीत सिंह, प्रताप सिंह, मनोज कुमार, प्रमोद कुमार, लोकेश कुमार, इंदरजीत सिंह, रविंद्र सिंह, सचिन कुमार आदि शामिल थे।एनएसयूआइ के प्रदेश अध्यक्ष मोहन भंडारी ने कहा कि जिस तरह से मोदी ने देश के युवाओं को रोजगार और सस्ती शिक्षा के सपने दिखाए हैं। उससे आज छात्र और युवा खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहा है। इसके अलावा एनएसयूआइ नई शिक्षा नीति, शिक्षा और सरकारी उपक्रमों के निजी करण, विभिन्न परीक्षाओं में हो रहे घोटाले और लेट ज्वाइनिंग, प्रतियोगी परीक्षाओं में उम्र सीमा में छूट न देने, बढ़ती बेरोजगारी, फैलोशिप फार स्कालरशिप में हो रही कटौती का भी विरोध कर रही है।

Related Posts