ताजा खबरें >- :
प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष एवं पूर्व नेता प्रतिपक्ष ने समान नागरिक संहिता को लेकर सरकार के कदम पर निशाना साधा

प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष एवं पूर्व नेता प्रतिपक्ष ने समान नागरिक संहिता को लेकर सरकार के कदम पर निशाना साधा

प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष एवं पूर्व नेता प्रतिपक्ष ने समान नागरिक संहिता को लेकर सरकार के कदम पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि सरकार और सत्तारूढ़ दल का महंगाई, बेरोजगारी और जन सरोकारों से लेना-देना नहीं है। जनता का ध्यान भटकाने के लिए लिए ऐसे मुद्दों को उछाला जाता है।पूर्व नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह ने आरोप लगाया कि चुनाव जीतने के लिए भाजपा सरकार जिस तरह कृत्य करती है, उससे सब अवगत हैं। भाजपा का देश में एक ही एजेंडा है कि आपसी सौहार्द को समाप्त किया जाए।

सत्तारूढ़ दल अंग्रेजों के रास्ते पर चल रहा है। बांटो और राज करो, भाजपा का यही एजेंडा है। देश को कितना नुकसान पहुंच रहा है, इससे कोई लेना-देना नहीं है। सरकार को विकास से कोई मतलब नहीं है। महंगाई कैसे कम की जाए और जनता पर पड़ रहे बोझ को कैसे कम किया जाए, इसे लेकर कोई तैयारी नहीं है।उन्होंने कहा कि बेरोजगारी दूर करने और विकास कार्यों को गति देने की चिंता नदारद है। समान नागरिक संहिता पर विशेषज्ञ समिति गठित करने के मामले में उन्होंने कहा कि भाजपा का अपना एजेंडा है और वह उसी एजेंडे पर आगे बढ़ रही है। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री संगठन मथुरादत्त जोशी ने कहा कि प्रदेश को विकास की आवश्यकता है, लेकिन भाजपा का इससे कोई लेना-देना नहीं है।

सांप्रदायिक सौहार्द कैसे बिगड़े और चुनाव में ध्रुवीकरण हो, इसे ध्यान में रखकर ही सरकार और सत्तारूढ़ दल अपनी चाल चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि चम्पावत उपचुनाव के अवसर पर सरकार ने यह कदम उठाकर धु्रवीकरण की कोशिश की है। जनता अब झांसे में आने वाली नहीं है।चम्पावत उपचुनाव में प्रचार के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के शनिवार को होने वाले दौरे को लेकर कांग्रेस ने हमला बोला है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता गरिमा महरा दसौनी ने कहा कि उपचुनाव में भी भाजपा को समाज को बांटकर लाभ लेने की आवश्यकता पड़ रही है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता गरिमा ने कहा कि चुनाव में समाज को बांटने के लिए जहां भी जरूरत होती है, भाजपा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का उपयोग करती है। चम्पावत उपचुनाव में ऐन मौके पर यही किया जा रहा है। चुनाव प्रचार में जहर फैलाने में कमी रह गई है, इसीलिए योगी आदित्यनाथ को बुलाया जा रहा है। 2017 और 2022 के विधानसभा चुनावों में भाजपा ने ऐसा ही किया है। भाजपा तुष्टिकरण के लिए ऐसे कार्य करती है।भाजपा ने योगी आदित्यनाथ पर टिप्पणी को लेकर कांग्रेस पर पलटवार किया है। भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष देवेंद्र भसीन ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता की ओर से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के बारे में आपत्तिजनक शब्दों का प्रयोग महान संत परंपरा व उत्तराखंड का अपमान है। यह कांग्रेस की कलुषित मानसिकता का प्रमाण है। कांग्रेस को माफी मांगनी चाहिए।

 

Related Posts