ताजा खबरें >- :
कुमाऊं की पारंपरिक व अद्भुत ऐपण कला प्रधानमंत्री कार्यालय में नजर जाएगी; जाने पूरी खबर

कुमाऊं की पारंपरिक व अद्भुत ऐपण कला प्रधानमंत्री कार्यालय में नजर जाएगी; जाने पूरी खबर

कुमाऊं की पारंपरिक व अद्भुत ऐपण कला प्रधानमंत्री कार्यालय में नजर जाएगी। लाल रंग की पृष्ठभूमि में काटन कपड़े पर सफेद व नारंगी रंग से उकेरी गई ऐपण कलाकृति को प्रियंका शर्मा व उनकी टीम ने तैयार किया है। गुरुवार को हल्द्वानी आए पीएम नरेन्द्र मोदी को यह कलाकृति स्मरण के तौर पर भेंट की गई थी। जिसे पीएम मोदी ने अत्यधिक सराहा।प्रदेश सरकार की एक जिला दो उत्पाद मुहिम के तहत नैनीताल जिले में ऐपण कला को इस श्रेणी में शामिल किया गया है। ऐसे में ऐपण आधारित कलाकृति पीएम मोदी को भेंट करने की योजना बनाई गई। चार फीट ऊंचे व डेढ़ फीट चौड़े कपड़े के ऊपरी हिस्से में भगवान गणेश की आकृति बनाई गई है। गोलाकार आकृति में ऐपण यानी रंगों की लाइनें डाली गई हैं। कपड़े के निचले हिस्से में 2022 का हस्तनिर्मित कैलेंडर तैयार किया गया है।

कुमाऊं के दौरे पर आए पीएम मोदी ने कुमाऊंनी भाषा में संबोधन देकर आत्मीयता दिखाई थी। ऐपण कलाकृति को कुमाऊं वासियों के स्नेह के तौर पर पीएम को भेंट किया गया। जिला उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक विपिन कुमार ने कहा कि पीएम कार्यालय में कुमाऊं की ऐपण कलाकृति लगने से यहां के कलाकारों को प्रोत्साहन मिलेगा। ऐपण कला को प्रोत्साहन मिलने से महिलाओं की आत्मनिर्भरता की राह तैयार होगी।ऐपण कला को कुमाऊं की गौरवशाली परंपरा का प्रतीक माना जाता है। दीवाली, देवी पूजन, लक्ष्मी पूजन, यज्ञ, हवन, जनेऊ, छठ कर्म, विवाह आदि मांगलिक अवसर पर घर की चौखट, दीवार, आंगन, मंदिर आदि को ऐपण से सजाया जाता है। पहले समय में गेरू  (लाल मिट्टी) से जगह लीपकर उस पर चावल के आटे में पानी मिला सफेद लकीरें डाली जाती थी। अब बाजार के रंगों का प्रयोग होता है। ऐपण में स्वास्तिक, शंख, दीये, घंटी, लक्ष्मी पैर आदि बनाए जाते हैं।

 

Related Posts