ताजा खबरें >- :
कंजरवेशन रिजर्व आसन वेटलैंड में प्रवास पर आए परिंदों की विधिवत गणना जनवरी में

कंजरवेशन रिजर्व आसन वेटलैंड में प्रवास पर आए परिंदों की विधिवत गणना जनवरी में

देश के पहले कंजरवेशन रिजर्व आसन वेटलैंड में प्रवास पर आए परिंदों की विधिवत गणना जनवरी में हो सकती है। ठंड बढ़ने के साथ ही यहां पर प्रवासी परिंदों की संख्या में भी लगातार इजाफा हो रहा है। प्रवास पर आने वाली अधिकांश प्रजातियां भी पहुंच चुकी हैं। प्रवासी आसन वेटलैंड में मार्च अंत तक वास करेंगे और फिर अपने गंतव्यों को लौट जाएंगे।

आसन वेटलैंड में प्रवासी परिंदों के प्रति रुझान बढ़ाने को हाल ही में वन आरक्षी प्रशिक्षण केंद्र रामपुर मंडी में बर्ड फेस्टिवल भी हो चुका है। साथ ही ईको टूरिज्म वन की ओर से आसन वेटलैंड पर प्रमोशनल फिल्म का निर्माण भी कराया गया है। अब जनवरी में विशेषज्ञ परिंदों की विधिवत गणना कर सकते हैं। ऐसे संकेत चकराता वन प्रभाग के एक अधिकारी ने दिए। यहां प्रवासी परिंदों की संख्या 5500 के आसपास पहुंच चुकी है।

इनमें पलास फिश ईगल, रुडी शेलडक, कामन पोचार्ड, रेड क्रेस्टेड पोचार्ड, फ्यूरीजीनस पोचार्ड, टफ्ड डक, गैडवाल, यूरोशियन विजन, मैलार्ड, स्पाट बिल्ड डक, नार्थन शावलर, नार्थन पिनटेल्स, कामन कूट, कामन टील, कामन मोरहेन, लिटिल ग्रेब, रेड नेप्ड इबिश, लिटिल कारमोरेंट, इंडियन कारमोरेंट, ग्रेट कारमोरेंट, लिटिल इग्रेट, पर्पल हेरोन, ग्रे हेरोन, बार हेडेड गीज, ग्रे लेग गीज, रेड बिल्ड लिओथ्रिक्स, रस्टी टेल्ड फ्लाई केचर, माउंटेन हॉक ईगल, बफ्फ बार्ड वार्बलर व रिफोस गोरगेटेड फ्लाईकेचर शामिल हैं। बर्ड वाचिंग को आने वाले पक्षी प्रेमी भी बोटिंग का मजा भी ले रहे हैं। जीएमवीएन की ओर सेयहां बर्ड वाचिंग टावर भी बनाया गया है। आसन रेंजर जवाहर सिंह तोमर ने बताया कि परिंदों की संख्या अभी और बढ़ेगी।

Related Posts