ताजा खबरें >- :
उत्‍तराखंड के चमोली जिले में स्थित गुरुद्वारा हेमकुंड साहिब की यात्रा के लिए पंजीकरण व स्लाट बुकिंग की प्रक्रिया शुरू

उत्‍तराखंड के चमोली जिले में स्थित गुरुद्वारा हेमकुंड साहिब की यात्रा के लिए पंजीकरण व स्लाट बुकिंग की प्रक्रिया शुरू

उत्‍तराखंड के चमोली जिले में स्थित गुरुद्वारा हेमकुंड साहिब की यात्रा के लिए पंजीकरण व स्लाट बुकिंग की प्रक्रिया बुधवार से शुरू हो गई है। आज गुरुवार को पंज प्यारों की अगुआई में श्रद्धालुओं का पहला जत्था रवाना हो गया। राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल (रिटा.) गुरमीत सिंह व मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जत्‍थे को हरी झंडी दिखाकर रवाना कि‍या।हेमकुंड साहिब व लोकपाल लक्ष्मण मंदिर के कपाट 22 मई से श्रद्धालुओं के लिए खोले जाने हैं। गुरुद्वारा श्री हेमकुंड साहिब मैनेजमेंट ट्रस्ट ऋषिकेश में बुधवार से एथिक्स इन्फोटेक कंपनी ने पंजीकरण केंद्र शुरू कर दिया। यहां श्रद्धालुओं का आफलाइन पंजीकरण हो रहा है। ट्रस्ट के उपाध्यक्ष नरेंद्रजीत सिंह बिंद्रा ने बताया कि यात्रा को लेकर सभी तैयारियां पूरी हैं। पैदल मार्ग पर भी आवाजाही सुचारू है।ट्रस्ट के उपाध्यक्ष नरेंद्रजीत सिंह बिंद्रा ने बताया कि हेमकुंड साहिब पैदल मार्ग पर धाम के अलावा घांघरिया व गोविंदघाट में आवास व लंगर की व्यवस्था सुचारू कर दी गई है। सभी स्थानों पर एक माह के राशन का कोटा पहुंचा दिया गया है। इसके अलावा यात्रा मार्ग और पड़ाओं पर बिजली, पानी समेत अन्य व्यवस्थाएं भी दुरुस्त कर ली गई हैं।

हेमकुंड साहिब में भी चारधाम की तर्ज पर कैरिंग कैपेसिटी के हिसाब से दर्शनों के लिए श्रद्धालुओं की संख्या तय की गई है। हेमकुंड साहिब में प्रतिदिन अधिकतम पांच हजार श्रद्धालु ही मत्था टेक सकेंगे। ट्रस्ट के उपाध्यक्ष ने बताया कि संख्या तय किए जाने के साथ ही पंजीकरण व स्लाट भी उसी हिसाब से जारी किए जा रहे हैं। यदि श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ती है तो उन्हें ऋषिकेश में ही रोककर तय संख्या के हिसाब से यात्रा संचालित की जाएगी।हेमकुंड साहिब के लिए आनलाइन पंजीकरण की व्यवस्था पूर्व में ही खोल दी गई थी। अब तक कुल 20 हजार श्रद्धालु पंजीकरण करा चुके हैं। हालांकि, धाम में श्रद्धालुओं की संख्या तय होने के बाद अब स्लाट के हिसाब से ही उन्हें ऋषिकेश से आगे भेजा जाएगा। अभी हेमकुंड साहिब में दर्शन के स्लाट उपलब्ध हैं। ट्रस्ट के प्रबंधक सरदार दर्शन सिंह ने बताया कि गुरुवार को लगभग 1800 श्रद्धालु हेमकुंड के लिए रवाना होंगे।

 

Related Posts