ताजा खबरें >- :
उत्तराखंड में भी निकलेगी गज यात्रा : वन मंत्री हरक सिंह

उत्तराखंड में भी निकलेगी गज यात्रा : वन मंत्री हरक सिंह

मेघालय और तमिलनाडु के बाद अब उत्तराखंड में गज यात्रा निकाली जाएगी। सोमवार को वन मंत्री हरक सिंह ने भारतीय वन्य जीव संस्थान में यात्रा की प्रतीक प्रतिमा का अनावरण किया। यह यात्रा हाथियों के कॉरिडोर में निकाली जाएगी। इसमें आम लोगों के साथ ही जनप्रतिनिधियों को भी शामिल किया जाएगा।

इस अभियान से जुड़ीं डा. प्रज्ञा पांडे के मुताबिक केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय की ओर से यह मुहिम 2017 में शुरू की गई थी। इस वर्ष इसके तहत मेघालय और तमिलनाडु में यह यात्रा निकाली जा चुकी है। मेघालय में पांच हाथी कॉरिडोर हैं। पूरे देश में 111 हाथी कॉरिडोर हैं। इनमें से 11 कॉरिडोर उत्तराखंड में हैं।

गज यात्रा के तहत कॉरिडोर के आसपास की मानव आबादी सहित राज्य की विशिष्ट हस्तियों और जनप्रतिनिधियों से बात की जाएगी। इनको कॉरिडोर की हाथियों के लिए उपयोगिता के बारे में बताया जाएगा और हाथी संरक्षण के लिए जागरूक किया जाएगा।

उत्तराखंड में हाथियों के लिए बनेगा रेस्क्यू सेंटर
1839 से अधिक हाथियों को संभाल रहे उत्तराखंड में अब हाथियों के लिए भी रेस्क्यू सेंटर बनेगा। पीसीसीएफ जयराज के मुताबिक रेस्क्यू सेंटर के लिए करीब 100 एकड़ जमीन की व्यवस्था की जा रही है। इसके लिए केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय से भी बात की गई है। हाल ही में वन विभाग को हाईकोर्ट के आदेश पर कुछ पालतू हाथियों की देखरेख करनी पड़ रही है। वन विभाग इन हाथियों को राजाजी पार्क में नहीं रख पा रहा है और न ही उन्हें उनके मालिकों को सौंप पा रहा है।

 

Related Posts