ताजा खबरें >- :
तरक्की के लिए जाति-धर्म के नाम पर लड़ना-झगड़ना बंद करना होगा; वरिष्ठ कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद

तरक्की के लिए जाति-धर्म के नाम पर लड़ना-झगड़ना बंद करना होगा; वरिष्ठ कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद

वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री गुलाम नबी आजाद ने कहा कि तरक्की के लिए जाति-धर्म के नाम पर लड़ना-झगड़ना बंद करना होगा। स्वतंत्रता के लिए संघर्ष के दिनों में सभी लोग एकजुट होकर अंग्रेजों के खिलाफ लड़ रहे थे, न कि जाति अथवा धर्म के लिए। उन्होंने कहा कि कोई भी धर्म मानवता की सीख देता है। सुझाव दिया कि आजादी का इतिहास प्राथमिक कक्षाओं के पाठ्यक्रम में शामिल किया जाना चाहिए।सोमवार को मसूरी में शहीद भगत सिंह के 114वें जन्मदिन पर भारतीय जन नाट्य संघ (इप्टा) की ओर से एक समारोह का आयोजन किया गया। समारोह में अमर शहीद भगत सिंह के स्वजन करण सिंह संधू, अशफाक उल्ला खां के स्वजन अशफाक उल्ला खान, सुखदेव के स्वजन अनुज थापर को सम्मानित किया गया।

राधाकृष्ण मंदिर सभागार में आयोजित समारोह में बतौर मुख्य अतिथि पूर्व केंद्रीय मंत्री व गांधी ग्लोबल फेमिली के अध्यक्ष गुलाम नबी आजाद ने कहा कि अमर शहीदों का लक्ष्य देश को अंग्रेजों की गुलामी से आजाद करवाना था। अब यह हमारा दायित्व है कि शहीदों के सपनों को पूरा करें।कार्यक्रम में मसूरी की लोकगायिका मनु वंदना, डा. सोनिया आनंद रावत तथा शिव अरोड़ा को फोटोग्राफी के लिए सम्मानित किया गया। इस अवसर पर मासिक पत्रिका नित्य नूतन के आगाज ए दोस्ती के विशेषांक का लोकार्पण भी किया गया। इससे पहले गुलाब नबी ने शहीद भगतसिंह चौक पर शहीद-ए-आजम की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की। कार्यक्रम में उत्तराखंड क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष जोतसिंह गुनसोला भी उपस्थित थे।

 

Related Posts