ताजा खबरें >- :
विकास के नाम पर शहर की सड़कों पर की जा रही मनमानी पर अंकुश; जिलाधिकारी डा. आर राजेश कुमार

विकास के नाम पर शहर की सड़कों पर की जा रही मनमानी पर अंकुश; जिलाधिकारी डा. आर राजेश कुमार

विकास के नाम पर शहर की सड़कों पर की जा रही मनमानी पर शायद अब प्रभावी अंकुश लग पाएगा। जो सड़कें जनता के प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष कर से बनी होती हैं, उस पर सुगम सफर की जगह हिचकोले खाने पड़ते हैं। कई दफा लोग दुर्घटना का शिकार भी हो जाते हैं। बदहाल सड़कों पर दुर्घटनाएं पहले भी होती रही हैं, मगर पहली बार देखने में आया है कि ठेकेदार को चोटिल व्यक्ति को दो लाख रुपये अदा करने का आदेश देने के साथ उस पर एक लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है। जिलाधिकारी डा. आर राजेश कुमार इस निर्णय को यहीं तक सीमित नहीं रखना चाहते हैं।

उन्होंने इसे बस एक उदाहरण बताते हुए सभी ठेकेदारों को चेतावनी जारी की है।बुधवार को जारी आदेश में जिलाधिकारी ने कहा कि स्मार्ट सिटी के विभिन्न कार्यों के ठेकेदारों की लापरवाही सामने आ रही है। सड़क को खोदने के बाद या तो गड्ढा भरा नहीं जा रहा या समतलीकरण के नाम पर महज खानापूर्ति की जा रही है। इसी तरह उन्होंने अन्य निर्माण एजेंसियों के ठेकेदारों को भी चेताया है। उन्होंने कहा कि किसी भी सड़क को खोदते समय जनता की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा जाए और काम के बाद मिट्टी को उचित ढंग से भर दिया जाए। निर्माण स्थल के आसपास फैली मिट्टी का भी शीघ्र निस्तारण कर दिया जाए। उन्होंने सभी निर्माण एजेंसियों के अधीक्षण अभियंता, अधिशासी अभियंताओं समेत स्मार्ट सिटी के मुख्य महाप्रबंधक (तकनीकी) को नियमों का पालन कराने के निर्देश जारी किए हैं।

दून महानगर उद्योग व्यापार प्रकोष्ठ ने दैनिक जागरण की ‘सड़क पर सुस्ती’ अभियान की प्रशंसा की है। पदाधिकारियों ने कहा कि समाचार पत्र आगे आकर आमजन से जुड़ी शहर की सबसे ज्वलंत समस्या को हर रोज उजागर कर स्मार्ट सिटी, जिला प्रशासन व सरकार को आईना दिखाने का काम कर रहा है।बुधवार को दून महानगर व्यापार प्रकोष्ठ की डिस्पेंसरी रोड स्थित कार्यालय सभागार में बैठक हुई। बैठक की अध्यक्षता करते हुए महानगर व्यापार प्रकोष्ठ के अध्यक्ष सुनील कुमार बांगा ने कहा कि स्मार्ट सिटी कंपनी जनता को परेशानी में डाल रही है। आरोप लगाया कि कोतवाली से आढ़त बाजार वाली सड़क पूरी क्षतिग्रस्त है, इस कारण लोग गड्ढों में गिर कर चोटिल हो रहे हैं।

दोपहिया सवार कई लोग अभी तक यहां घायल हो चुके हैं। पैदल चलने वालों को भी भारी परेशानी झेलनी पड़ रही है। यह सब स्मार्ट सिटी के अधिकारियों को दिखाई नहीं दे रहा है। सुनील कुमार बांगा ने जिलाधिकारी डा. आर राजेश कुमार को पत्र भेज कर आग्रह किया है कि कोतवाली से सामने स्थित आढ़त बाजार की सड़क के दुकानदारों को भारी दिक्कतें हो रही हैं। इस सड़क को शीघ्र बनाकर आम नागरिकों की परेशानी को दूर करें। बैठक में व्यापारी सुरेश गुप्ता, राजेश मित्तल, शेखर कपूर, राम कपूर, चमन लाल, अजीत सिंह, योगेश भटनागर, राजेंद्र सिंह घई, प्रवीण बांगा, नदीम बैग, राहुल कुमार, महताब आलम आदि मौजूद रहे।

 

Related Posts