ताजा खबरें >- :
यूनाइटेड नेशंस जनरल असेंबली द्वारा हर साल तीन जून को विश्व साइकिल दिवस  आज

यूनाइटेड नेशंस जनरल असेंबली द्वारा हर साल तीन जून को विश्व साइकिल दिवस आज

कोरोना संक्रमण के बाद से लोगों में अपने स्‍वास्‍थ्‍य के प्रति सजगता बढ़ी है। विभिन्‍न व्‍यायामों के जरिए लोग खुद को फिट रखने पर जोर दे रहे हैं। इन्‍हीं सबसे में साइकिलिंग पर भी जोर दिया जा रहा है। इससे न केवल सेहत अच्‍छी होती है, बल्कि यह पर्यावरण के लिए भी फायदेमंद है।यूनाइटेड नेशंस जनरल असेंबली द्वारा हर साल तीन जून को विश्व साइकिल दिवस मनाया जाता है। आज ही के दिन साल 2018 में अंतरराष्ट्रीय साइकिल दिवस घोषित किया गया था। जिम ट्रेनर शुभम पंवार और विकास यादव ने बताया कि इन दिनों लोग साइकिलिंग का ज्‍यादा उपयोग कर रहे हैं। जिन लोगों को वजन घटाना होता है खासकर वही लोग ज्‍यादा साइकिलिंग करते हैं। साइकिलिंग चलाने से खूब पसीना आता है। इससे मेटाबालिज्‍म बढ़ता है। जिससे बड़ा हुआ वजन घटने लगता है।

  • वजन घटाना: साइकिल चलाने से मेटाबालिक रेट बढ़ता है, मांसपेशियां बनती हैं और वजन कम होता है। एक घंटा साइकिल चलाने से 400 से 1000 कैलोरी तक बर्न हो सकती है।
  • हृदय स्‍वस्‍थ्य रहता है: नियमित साइकिल चलाने से उच्च रक्तचाप जैसी समस्‍याओं से निपटा जा सकता है। दिल से जुड़ी कई समस्याओं में भी साइकिलिंग करना फायदेमंद साबित हो सकता है।
  • फेफड़ों के लिए फायदेमंद : नियमित साइकिलिंग करने से फेफड़े सेहतमंद होते हैं और स्‍टेमिना बढ़ता है। साइकिलिंग करते वक्‍त फेफड़े ताजा आक्‍सीजन की सप्‍लाई होती है। इस दौरान बढ़ी हुई श्वास दर फेफड़ों के आसपास मांसपेशियों का विकास करती है।
Related Posts