ताजा खबरें >- :
कांग्रेस राज्य में चुनावी गतिविधियां के मोर्चे पर भाजपा की मुश्किलें बढ़ाती दिखेगी

कांग्रेस राज्य में चुनावी गतिविधियां के मोर्चे पर भाजपा की मुश्किलें बढ़ाती दिखेगी

कांग्रेस राज्य में चुनावी गतिविधियां के मोर्चे पर भाजपा की मुश्किलें बढ़ाती दिखेगी। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत पंजाब के प्रभारी के दायित्व से मुक्त होने के बाद अपनी सौ फीसद ताकत उत्तराखंड में झोंकने की तैयारी कर रहे हैं। परिवर्तन यात्रा के सभी चरणों को इसी माह पूरा कर अगले माह में परिवर्तन महारैली की तैयारी की जा रही है।प्रदेश कांग्रेस कमेटी श्राद्ध खत्म होते ही नवरात्र से नए चुनावी तेवरों के साथ जमीनी तैयारी में जुटने जा रही है। चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष के नाते पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत इस मुहिम को तेज धार देते दिखाई देंगे। रावत के पास पंजाब कांग्रेस के प्रभारी का पदभार है। पंजाब में कांग्रेस की मुश्किलें खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं। इस वजह से उत्तराखंड में चुनावी रणनीति को धार देने की रावत के मंशा पर भी ब्रेक लगते रहे हैं।

ऋषिकेश में गंगा किनारे कांग्रेस के पांच दिनी मंथन शिविर के बाद पार्टी राज्य में परिवर्तन यात्रा का आगाज कर चुकी है। परिवर्तन यात्रा के पहले दो चरण ऊधमङ्क्षसह नगर और हरिद्वार जिले पर केंद्रित रहे हैं। नवरात्र पर परिवर्तन यात्रा का तीसरा चरण आरंभ करने की तैयारी है। इसे टिहरी या अल्मोड़ा से प्रारंभ किया जा सकता है। चालू माह में चौथा और पांचवां चरण पूरा किया जाएगा। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत का कहना है कि अगले माह नवंबर में भाजपा सरकार के खिलाफ परिवर्तन महारैली निकाली जाएगी। कांग्रेस के कार्यकत्र्ता ब्लाक से लेकर जिलों तक सत्तारूढ़ दल के खिलाफ संघर्ष करेंगे।प्रदेश कांग्रेस सैन्य पृष्ठभूमि के मतदाताओं को लुभाने में ताकत झोंकेगी। बकौल प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गणेश गोदियाल ब्लाकों, जिलों और प्रदेश स्तर पर पूर्व सैनिक सम्मेलन भी होंगे। भाजपा की सैनिक सम्मान यात्रा के जवाब में कांग्रेस अपने इस आयोजन में पूर्व सैनिकों को पार्टी से जोडऩे की मुहिम तेज करेगी।

Related Posts