ताजा खबरें >- :
उत्तराखंड नव संकल्प क्रियान्वयन शिविर के कांग्रेस ने भरोसा दिलाया गया कि कार्यकर्त्‍ताओं को हताश और निराश नहीं होने दिया जाएगा

उत्तराखंड नव संकल्प क्रियान्वयन शिविर के कांग्रेस ने भरोसा दिलाया गया कि कार्यकर्त्‍ताओं को हताश और निराश नहीं होने दिया जाएगा

उत्तराखंड नव संकल्प क्रियान्वयन शिविर के पहले दिन कांग्रेस ने न्याय पंचायत स्तर तक पार्टी संगठन को मजबूत करने पर जोर दिया। यह भी भरोसा दिलाया गया कि कार्यकर्त्‍ताओं को हताश और निराश नहीं होने दिया जाएगा।पार्टी में नई जान फूंकने के लिए हो रहे इस शिविर में वक्ता विधानसभा चुनाव में मिली असफलता का दर्द बयां करने से नहीं चूके। जिला इकाइयों के अध्यक्षों से लेकर युवा नेताओं ने पार्टी की हार के लिए बड़े नेताओं की नाकामी को जिम्मेदार ठहराया।

कांग्रेस के उदयपुर में राष्ट्रीय चिंतन शिविर में लिए गए संकल्पों के क्रियान्वयन को लेकर बुधवार को जीएमएस रोड स्थित एक वैडिंग प्वाइंट में प्रदेश कांग्रेस कमेटी का दो दिनी शिविर प्रारंभ हुआ। पार्टी के प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव, पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा, नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य और उपनेता प्रतिपक्ष भुवन कापड़ी की उपस्थिति में शिविर के पहले दिन जिलाध्यक्षों, युवा कांग्रेस के पदाधिकारियों एवं विधानसभा चुनाव प्रत्याशियों ने विचार रखे।

पांचवीं विधानसभा चुनाव में मिली हार के बाद प्रदेश में पार्टी को नए सिरे से खड़ा करने के उद्देश्य से हो रहे इस शिविर में वक्ताओं को चुनाव पर टिप्पणी करने से परहेज करने को कहा गया था। इसके बावजूद वक्ताओं ने गुबार निकाल ही दिया। सूत्रों के अनुसार अल्मोड़ा, हल्द्वानी, हरिद्वार के पार्टी नेताओं, एनएसयूआइ व युवक कांग्रेस के वक्ताओं ने कहा कि बड़े नेताओं की नाक की लड़ाई चुनाव में पार्टी पर भारी पड़ी।

वक्ताओं ने कहा कि पार्टी को सक्रिय कार्यकर्त्‍ताओं को बूथ से लेकर ब्लाक स्तर तक साथ लिया जाना चाहिए। संगठन में काम करने वालों को आगे बढ़ाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि फिरकापरस्त ताकतों को हराने के लिए पार्टी को एकजुट होना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि पार्टी का मत प्रतिशत पिछले विधानसभा चुनाव और लोकसभा चुनाव की तुलना में बढ़ा है। इससे स्पष्ट है कि पार्टी की जनता में लोकप्रियता कम नही हुई है।

पार्टी की ओर से बताया गया कि 11 से 14 जून तक प्रत्येक जिले में एक दिवसीय कार्यशाला होगी। पार्टी की ओर से नौ अगस्त से देशभर में चलाई जाने वाली पद यात्रा के तहत उत्तराखंड में 75 किमी लंबी दूरी तय की जाएगी। पदयात्रा का समापन देश की स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ के समापन के अवसर पर 15 अगस्त को प्रदेश मुख्यालय में भव्य कार्यक्रम के साथ होगा। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर दो अक्टूबर को गांधी जयंती के अवसर पर कश्मीर से कन्याकुमारी तक शुरू होने वाली ‘भारत जोड़ो यात्रा’ में पार्टी के सभी पदाधिकारी प्रतिभाग करेंगे।

शिविर का संचालन प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने किया। इस अवसर पर विधायक मदन बिष्ट, विक्रम सिंह नेगी, आदेश चौहान, गोपाल राणा, वीरेंद्र जाती, रवि बहादुर, अनुपमा रावत व सुमित हृदयेश उपस्थित रहे। राज्यसभा सदस्य प्रदीप टम्टा, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल, पूर्व मंत्री हीरा सिंह बिष्ट, दिनेश अग्रवाल, नवप्रभात, रणजीत सिंह रावत, महेंद्र सिंह पाल, कोषाध्यक्ष आर्येंद्र शर्मा, पूर्व विधायक राजकुमार, डा जीतराम, समेत बड़ी संख्या में पूर्व विधायक, प्रदेश कांग्रेस व फ्रंटल संगठनों के प्रदेश पदाधिकारी शिविर में शामिल हुए।पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह पारिवारिक समारोह के कारण शिविर में हिस्सा नहीं ले पाए। उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा को पत्र के माध्यम से एक से तीन जून तक पैतृक गांव में कार्यक्रम में व्यस्त होने की जानकारी दी।

 

Related Posts