ताजा खबरें >- :
अंकिता हत्याकांड की विवेचना के लिए एसआईटी गठित की गई है

अंकिता हत्याकांड की विवेचना के लिए एसआईटी गठित की गई है

ऋषिकेश में अंकिता भंडारी की हत्या की खबर से सनसनी फैली हुई है। उत्तराखंड SDRF ने शनिवार की सुबह अंकिता भंडारी का शव ऋषिकेश की चीला नहर से बरामद कर लिया है। SDRF के प्रवक्ता ने अंकिता भंडारी के शव को चिला नहर से बरामद किए जाने की पुष्टि की है। वहीं, मामले की जांच अब एसआईटी करेगी।

शनिवार सुबह अंकिता का शव मिलने के बाद प्रदेशभर में जगह-जगह लोगों का गुस्सा दिखाई दे रहा है। सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे लोग आरोपियों को फांसी देने की मांग कर रहे हैं। इस बीच एम्स ऋषिकेश के बाहर लोगों की भारी भीड़ उमड़ पड़ी है। एम्स ऋषिकेश में अंकिता का शव पोस्टमाटर्म के लिए लाया गया।

इस दौरान यमकेश्वर विधायक रेणु बिष्ट यहां पहुंची तो गुस्साई भीड़ ने उनकी गाड़ी के शीशे तोड़ दिए। लोगों के विरोध के बाद एम्स से विधायक को निकालना पड़ा। दूसरी ओर मामले में धामी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। आरोपी पुलकित आर्य के भाई अंकित की पिछड़ा आयोग से छुट्टी होगी। अंकित आर्य अभी पिछड़ा वर्ग आयोग का उपाध्यक्ष है। दूसरी तरफ गुस्साए लोगों ने आरोपी पुलकित आर्य की फैक्टी में आग लगा दी। जोकि वनंत्रा रिजॉर्ट के पीछे बनी थी।

अंकिता हत्याकांड की विवेचना के लिए एसआईटी गठित की गई है। डीआईजी कानून व्यवस्था, एसपी रेखा यादव और एएसपी शेखर सुयाल को शामिल कर एसआईटी बनाई गई है। इन्हीं अधिकारियों की निगरानी में  मुकदमे की पूरी विवेचना होगी।
डीजीपी ने सभी जिलों के इस तरह के रिजॉर्ट और गेस्ट हाउस की पड़ताल करने के निर्देश दिए हैं। एलआईयूऔर क्षेत्र के इंस्पेक्टर के साथ मिलकर टीम बनाकर जांच की जाएगी। इन रिजॉर्ट और गेस्ट हाउस की महिला स्टाफ से भी बातचीत की जाएगी। पूरे मामले में डीजीपी ने एक सप्ताह के भीतर रिपोर्ट मांगी है।

Related Posts