ताजा खबरें >- :
कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत नगरपालिका सभागार में कामरेड वीरेंद्र भंडारी को श्रद्धांजलि देते हुए भावुक हो गए

कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत नगरपालिका सभागार में कामरेड वीरेंद्र भंडारी को श्रद्धांजलि देते हुए भावुक हो गए

अपनी साफगोई को लेकर अक्सर सुर्खियों में रहने वाले कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत ने एक बार फिर चर्चा में हैं। उन्होंने कहा कि ‘आज अलग राज्य के लिए प्राण न्योछावर करने वाले शहीदों की आत्मा भी रोती होगी कि हमने इन नालायकों और बेवकूफों के हाथों में उत्तराखंड को सौंप दिया है।’मंगलवार को कैबिनेट मंत्री नगरपालिका सभागार में कामरेड वीरेंद्र भंडारी को श्रद्धांजलि देते हुए भावुक हो गए। इस दौरान उन्होंने कहा कि इतने वर्ष बीत जाने के बाद भी उत्तराखंड का वैसा विकास नहीं हुआ, जिसकी उम्मीद की गई थी। हरक ने उदाहरण दिया कि अविभाजित उत्तर प्रदेश में मसूरी और नैनीताल प्रसिद्ध पर्यटक स्थल थे। ये पर्यटक स्थल भी किसी सरकार ने नहीं, बल्कि तत्कालीन ब्रिटिश सरकार ने विकसित किए थे। उन्होंने कहा कि न तो उत्तर प्रदेश और ना ही उत्तराखंड में कोई नया पर्यटक स्थल विकसित किया गया। उन्होंने कहा कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। कहा कि यदि हम सही मायनों में उत्तराखंड के हितैषी हैं तो हमें उन आत्माओं को रोने से रोकना होगा।

भाजपा महिला मोर्चा की ओर से आयोजित नेत्र परीक्षण शिविर में 100 से अधिक लोग ने आंखों का परीक्षण करवाया। प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन सेवा सप्ताह के तहत लंढौर छावनी के राजकीय प्राथमिक विद्यालय में आयोजित शिविर में देहरादून से आए नेत्र विशेषज्ञ डा. अनुषा, डा. दीपक, डा. रोहित व डा. प्रियंका पंवार ने नागरिकों की आंखों की जांच की। इससे पूर्व भाजपा मंडलाध्यक्ष मोहन पेटवाल व डा. अनुषा ने रिबन काटकर शिविर का उद्घाटन किया। इस मौके पर भाजपा महिला मोर्चा अध्यक्ष पुष्पा पडियार ने कहा कि मसूरी में आंखों की जांच की कोई सुविधा नहीं होने से यहां के लोगों को आंखों की जांच के लिए देहरादून जाना पड़ता है। इसी को देखते हुए महिला मोर्चा ने लोगों की सुविधा के लिए यहां पर नेत्र जांच शिविर आयोजित किया। शिविर में भाजपा मंडल महामंत्री कुशाल राणा, सपना शर्मा, अनिता सक्सेना आदि मौजूद रहे।

 

Related Posts