ताजा खबरें >- :
अधिकांश सीटों पर दावेदारी कर रहे भाजपा के कई नेता खुलकर बगावत पर उतर आए

अधिकांश सीटों पर दावेदारी कर रहे भाजपा के कई नेता खुलकर बगावत पर उतर आए

अधिकांश सीटों पर दावेदारी कर रहे भाजपा के कई नेता खुलकर बगावत पर उतर आए हैं। कालाढूंगी सीट पर पूर्व दर्जा राज्य मंत्री गजराज बिष्ट ने नामांकन करा लिया था। रविवार को पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत डैमेज कंट्रोल करने के लिए गजराज के आवास पर डटे रहे और वह उन्हें मनाने में सफल रहे।छड़ायल स्थित गजराज के आवास पर करीब ढाई घंटे तक पूर्व सीएम रावत रहे। इस दौरान विधायक नवीन दुम्का भी पहुंच गए। बंद कमरे में बातचीत के बाद पूर्व सीएम ने जागरण को बताया कि गजराज बिष्ट ने मेरा अनुरोध स्वीकार कर लिया है। वह हमारे वरिष्ठ साथी हैं। सीनियर होने के नाते मैं हमेशा उनकी चिंता करते रहूंगा।

31 जनवरी को वह अपना नामांकन वापस लेंगे। कालाढूंगी विधानसभा सीट से नामांकन कराने के बाद गजराज ने रविवार को कमलुवागांजा रोड पर स्थित बैंक्वेट हाल में सभा भी की थी। तब उन्होंने पार्टी के निर्णय की खुलकर आलोचना की थी।पूर्व सीएम से वार्ता के बाद मीडिया से रूबरू होने पर वह भावुक हो गए। उन्होंने कहा, हमें तो अपनों ने लूटा, गैरों में कहां दम था, मेरी कश्ती थी डूबी वहां, जहां पानी कम था। इतना कहने के बाद वह अपने कमरे में चले गए। वहीं, लालकुआं में पवन चौहान और भीमताल में मनोज साह बागी होकर चुनाव मैदान में डटे हुए हैं। इन दोनों ने नामांकन भी करा रखा है। भाजपा भीमताल में डैमेज कंट्रोल करते हुए नहीं दिख रही है। पूर्व सीएम ने कहा कि पवन चौहान भी हमारे संगठन के पुराने कार्यकर्ता हैं। सभी लोग संगठन व प्रदेश हित में पार्टी के साथ मिलकर काम करेंगे।

 

Related Posts