देहरादून, । देहरादून से ऋषिकेश या हरिद्वार जाते हुए मोहकमपुर के पास बायीं ओर खड़ा एक हवाई जहाज (एयरोप्लेन रेस्टोरेंट) बरबस ही ध्यान खींच लेता है और मन में उठने लगते हैं तरह-तरह के सवाल। मसलन, यह जहाज असली है या नकली, असली है तो यहां कैसे आया, अब इसका क्या किया जाएगा वगैरह-वगैरह। तो आइए! इन सवालों का जवाब तलाशने के लिए करते हैं एयरोप्लेन रेस्टोरेंट की सैर।

नमस्कार! एयरोप्लेन रेस्टोरेंट में आपका स्वागत है। कुछ इसी अंदाज में रेस्टोरेंट की ‘एयर होस्टेस’ आपका स्वागत करती हैं। जी-जी…बिल्कुल सही समझे, यहां वेटर एयर होस्टेस की ड्रेस में ही रहती हैं। वो आपको सीट तक लेकर जाएंगी और फिर जहाज के कैप्टन यानी रेस्टोरेंट के मैनेजर आपके पास आकर ऑर्डर लेंगे। कहने का मतलब जहाज में बैठकर भोजन करने के अहसास का नाम ही ‘एयरोप्लेन रेस्टोरेंट’ है।

ऐसे आया आइडिया 

मोहकमपुर फ्लाईओवर के पास करीब छह बीघा भूमि बने इस रेस्टोरेंट की खासियत इसका डिजाइन है। यह एक हवाई जहाज है, जिसे मॉडीफाई कर रेस्टोरेंट का लुक दिया गया है। रेस्टोरेंट के पार्टनर एसके रस्तोगी, विशेद और अंशुल रस्तोगी ने बताया कि स्विट्जरलैंड के अलावा यहां भी लुधियाना और दिल्ली में एयरोप्लेन रेस्टोरेंट हैं। कुछ अलग करने का विचार था। सो, गूगल समेत कई वेबसाइट पर सर्च किया। इसके बाद विशेद ने हमें एयरोप्लेन रेस्टोरेंट का आइडिया सुनाया, जो सभी को पसंद आया। फिर हमने देहरादून में इस तरह का रेस्टोरेंट खोलने की योजना बनाई।