ताजा खबरें >- :
देहरादून बाजार बंदी पर व्यापारी संगठनों के अलग-अलग सुर, डीएम को  जारी की करनी पड़ी नयी गाइडलाइंस

देहरादून बाजार बंदी पर व्यापारी संगठनों के अलग-अलग सुर, डीएम को जारी की करनी पड़ी नयी गाइडलाइंस

शनिवार एवं रविवार को शहर में बाज़ार बंदी को लेकर गफलत का माहौल बना हुआ है। इस बीच साप्ताहिक बंदी के लिए जिला प्रशासन की तरफ से गाइडलाइन जारी कर दी गई है। नई गाइडलाइंस के अनुसार, अब आवश्यक सेवाओं की दुकानें रविवार को भी खुली रहेंगी।
साप्ताहिक बंदी वाले बाजारों के लिए डीएम द्वारा जारी आदेश में बताया गया है कि अब सैलून भी रविवार को खुली रहेंगी। आदेश के अनुसार, देहरादून में रविवार साप्ताहिक बंदी वाले बाजारों में मेडिकल स्टोर, दूध-दही आदि आवश्यक सेवाओं की दुकानें खुली रहेंगी। इसके अलावा सैलून व नाई की दुकानें भी खुली रखी जाएंगी। शुक्रवार को जिलाधिकारी डॉ. आशीष कुमार श्रीवास्तव ने इसके आदेश जारी किए।
जिले में तीन और कंटेनमेंट जोन बनाए डीएम ने बताया कि मौजूदा समय में नगर निगम क्षेत्र देहरादून, छावनी परिषद गढ़ी कैंट व क्लेमेनटाउन क्षेत्र, त्यूणी क्षेत्र के सभी बाजारों में साप्ताहिक बंदी रविवार है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए अब इन बाजारों में साप्ताहिक बंदी के दौरान केवल आवश्यक सेवाओं की दुकानें ही खुलेंगी। इसके अलावा अन्य व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे। वहीं, एसडीएम चकराता ने क्षेत्र में साप्ताहिक बंदी बुधवार के स्थान पररविवार को करने का निर्णय लिया है।

डीएम ने बताया कि कोरोना संक्रमितों के मिलने के कारण जिले में तीन और इलाकों को कंटेनमेंट जोन बनाया गया है। जिसमें निगम देहरादून की हिल व्यू कॉलोनी इंद्रानगर, 46/5 पार्क रोड निकट वर्मा क्वार्टर एवं 107 टीचर्स कॉलोनी शामिल हैं। अगले आदेशों तक यहां के लोग दूसरे क्षेत्रों में नहीं जाएंगे।

उधर, शुक्रवार को प्रदेश उद्योग एवं व्यापार मंडल समिति (उत्तराखंड) रजिस्टर्ड की अति आवश्यक बैठक टेली कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश महामंत्री विनय गोयल की अध्यक्षता में संपन्न हुई। बैठक में वर्तमान परिपेक्ष्य में कोविड-19 महामारी के मद्देनजर दून महानगर में कथित व्यापारी संगठन द्वारा शनिवार व रविवार को लगातार बंद किए जाने की मांग के संबंध में चर्चा की गई। बैठक में सभी वक्ताओं द्वारा कोरोना काल में काम धंधे चौपट हो जाने पर अपनी अपनी व्यथा व वर्तमान परिदृश्य में निराशा व्यक्त की गई। सभी सदस्यों का मत था की लगातार शनिवार व रविवार बाजार बंद किए जाने से शुक्रवार व सोमवार के दिन बाजार पर अत्याधिक प्रेशर आ जाएगा जिससे कि इन दिनों बाजारो में अत्याधिक भीड़ बढ़ जाएगी और इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग नियम का पालन कठिन ही नहीं असंभव सा हो जाएगा। इसलिए शनिवार को बाजार बंद रखे जाने का कोई औचित्य नहीं है। और न ही शनिवार को बाजार बंद किया जाना कोविड-19 महामारी से निपटने का कोई विकल्प है। इसके विपरीत कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए सभी व्यक्तियों के लिए फेस मास्क लगाना,फेस शील्ड का उपयोग करना, हैंड सैनिटाइजर का प्रयोग, हैंडवाश करना व सोशल डिस्टेंसिंग नियम का कड़ाई के साथ पालन करना वैक्सीन से भी अधिक आवश्यक एवं कारगर है।

बैठक में सभी सामाजिक, व्यापारिक एवं धार्मिक संगठनों को फेस मास्क, फेस शील्ड, सैनिटाइजर, हैंडवाश व सोशल डिस्टेंसिंग के प्रति जनता को सतत जागरूक किए जाने का संकल्प लिया गया। सर्वसम्मति से यह निर्णय भी लिया गया कि पूर्व की भांति शनिवार यानी 19 सितंबर 2020 को दून महानगर के बाजार खुले रहेंगे तथा 20 सितंबर 2020 दिन रविवार को साप्ताहिक बंदी के दिन बाजार बंद रहेंगे।
बैठक में दून महानगर के विभिन्न व्यापारी संगठन दी होलसेल डीलर्स एसोसिएशन आढत बाजार देहरादून, देहरादून डिस्ट्रीब्यूटर्स एसोसिएशन, जनरल मर्चेंटस एसोसिएशन, वनस्पति डीलर्स एसोसिएशन, युवा व्यापारी वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष एवं महामंत्री, हलवाई एसोसिएशन, हनुमान चौक, कारगी रोड व्यापारी संगठन, होटल व्यवसाईयों चकराता रोड व्यापार संघ के प्रतिनिधि गण, दर्शनी गेट, झंडा बाजार, करनपुर क्षेत्र, हाथीबड़कला क्षेत्र, जीएमएस रोड के व्यापारी भी सम्मिलित थे। इनमें प्रमुख रूप से संस्था के प्रदेश कोषाध्यक्ष पुनीत मित्तल, गढ़वाल प्रभारी राजेंद्र प्रसाद गोयल, प्रदेश उपाध्यक्ष विनोद गोयल, महानगर महामंत्री विवेक अग्रवाल, महानगर उपाध्यक्ष सुधीर अग्रवाल, महानगर कोषाध्यक्ष अजय गर्ग, राजकुमार रेखी, राजकुमार दीवान , अरविंद गोयल, भुवन सिंगल , किशनलाल आहूजा, प्रदेश उपाध्यक्ष महावीर प्रसाद गुप्ता, अजय गुप्ता, शेखर भाटिया, श्रीदेव हिन्दवाण, धीरज पन्त, अनुराग अग्रवाल, धनीराम, सुनील गोयल, विजय कुमार, अर्पित गोयल, अनुज कुमार, मनोज कुमार व रचित कुमार इत्यादि सम्मिलित थे।

गजेंद्र सिंह बिष्ट

Related Posts