ताजा खबरें > :
चीनी घुसपैठ पर चिंता जताई, आन्दोलनकारी वेद उनियाल को दी गई भावभीनी  श्रद्धांजलि

चीनी घुसपैठ पर चिंता जताई, आन्दोलनकारी वेद उनियाल को दी गई भावभीनी  श्रद्धांजलि

 देहरादून:  संयुक्त नागरिक संगठन (सनस) की बैठक 01 इन्दर रोड पर सम्पन्न हुई. बैठक का प्रमुख एजेंडा संगठन के सम्विधान के प्रारूप को अंतिम रूप प्रदान करना था. 02 घंटे से अधिक समय तक चली बैठक में 11 संशोधन पारित करने के पश्चात संगठन के सम्विधान के अंतिम प्रारूप पर मुहर लगाई गई. संगठन के सम्विधान पर चर्चा करने वालों में संगठन के अध्यक्ष ब्रिगेडियर (अ.प्रा.) के जी बहल, कर्नल बीएम थापा, डॉ मुकुल शर्मा, एसके त्यागी, राज्य आन्दोलनकारी मनोज ध्यानी, ठाकुर रंजित सिंह कैंथुरा, श्रीमती आशा टम्टा, गुलिस्तां मंसूर, खुशबीर सिंह, ताराचंद गुप्ता, संजय उनियाल, उपेन्द्र अरोरा सुशील सैनी उपस्थित थे. बैठक की कार्यकारिणी में कर्नल बीएम थापा को उपाध्यक्ष एवं खुशबीर सिंह को कोषाध्यक्ष भी चुना गया. विदित हो कि संगठन के सम्विधान को पूर्व में ब्रिगेडियर (अ.प्रा.) के जी बहल की अध्यक्षता में शामिल समिति जिसमें श्रीमती गीता शर्मा, पुरुषोत्तम भट्ट , डॉ मुकुल शर्मा, मनोज ध्यानी, एसके त्यागी एवं जीएस जस्सल सम्मिलित थे, द्वारा अंतरिम चर्चा कर अंतिम प्रारूप हेतु आज की बैठक में भेजा गया. सम्विधान के प्रारम्भिक प्रारूप को राज्य आन्दोलनकारी मनोज ध्यानी द्वारा लिखा एवं कंपोज़ किया गया है.
सम्विधान प्रारूप को विमर्श बाद अडॉप्ट करने पश्चात संगठन ने इस सम्बन्ध में भी प्रस्ताव पारित किया कि भारत-चीन सीमा पर पैदा तनाव देश के लिए गंभीर खतरे की घंटी है. संगठन ने विश्वास जताया कि केंद्र सरकार राष्ट्रीय संप्रभुता की रक्षा हेतु सभी आवश्यक उपाय बनाएगी.
बैठक के अंतिम सत्र में राज्य आन्दोलनकारी वेद उनियाल के निधन पर एक शोक प्रस्ताव पढ़ा गया. इस शोक प्रस्ताव में उन्हें उत्तराखंड आन्दोलन की वैचारिक जमात का एक पुरोधा बताया गया. व उन्हें दो मिनट का मौन रख श्रधान्जली अर्पित की गई.

Related Posts

leave a comment